थाना डिलारी में रमज़ान की नमाज तरावीह पढ़ने के ताल्लुक से हुई मीटिंग

देशभर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या मैं लगातार बढ़ो तरी के कारण और रमजान उल मुबारक का पवित्र महीना शुरू होने से पहले तहसील ठाकुरद्वारा एवं थाना डिलारी क्षेत्र के प्रशासनिक अधिकारियों ने नागरिकों को सूचित करते हुए कहा के लॉक डाउन का पूरे तौर पर पालन करें, सामाजिक दूरियां बनाए रखें ओर किसी भी बाहर के व्यक्ति से ना मिलें, ना ही तो उसको घर में आने दें। और अगर किसी को खुद पर या किसी दूसरे व्यक्ति पर शक हो कि, यह कोरोना से संक्रमित है तो बिना डरे, बेझिझक प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को फौरन खबर करें, ताकि उसका वक्त से पहले इलाज हो सके।
इसी तरह रमजान उल मुबारक के पवित्र महीने के ताल्लुक से CO विशाल यादव ने बताया कि इस महीने में अफतारी व सहरी का एहतमाम भी होता है और बड़ी संख्या में लोग तरावीह की नमाज भी अदा करते हैं, कहा इसमें भी सोशल डिस्टेंस बनाए रखें। और 12 से 4:00 तक ही खाने पीने के सामान खरीद लिए जाएं, सामान खरीदने के लिए घर से एक ही व्यक्ति जाए,परिवार के अन्य सदस्यों को साथ ना ले जाए।
तरावीह के ताल्लुक से कहा कि जिस तरह से मस्जिद में इमाम साहेब समेत चार- पांच लोग जमात से नमाज पढ़ रहे हैं इसी तरह वही चार- पांच लोग ही तरावीह की नमाज भी अदा करें। इसके अलावा और किसी भी व्यक्ति को मस्जिद में जमात से नमाज पढ़ने की इजाजत नहीं।
यह बात भी याद रहे कि जिस घर में हाफिज हो और उसमें जमात से नमाज भी पढ़ी जा रही हो तो उसमें भी सिर्फ और सिर्फ घर के ही सदस्य तरावीह की नमाज जमात से पढ़ सकते हैं, फैमिली मेंबर्स चाहे 5 हों, 10 हों या 15 हों इसमें कोई आपत्ति नहीं होगी, मगर आस-पड़ोस वाले या रिश्तेदार या खानदान में से कोई भी व्यक्ति बाहर से आकर ना ही तो तरावीह पड़ सकता है और ना ही तो कोई हाफिज साहेब बाहर से आकर तरावीह की नमाज पढ़ा सकते हैं।
बाकी अफतारी के वक्त और सहरी में जगाने के लिए जो एलान होते हैं तो वह पारंपरिक तौर पर जारी रहेंगे, उसमें कोई रद्दो बदल या रोक-टोक नहीं होगी।
और
एसडीएम साहब ने कहा के हर व्यक्ति अपनी सुरक्षा के लिए, अपने परिवार की सुरक्षा के लिए और अपने समाज की सुरक्षा के लिए सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखे।
बात को स्पष्ट करते हुए एसडीएम महोदय ने कहा के सामूहिक तौर से कोई भी कार्यक्रम नहीं किया जाएगा, चाहे धार्मिक हो या गैर धार्मिक, एक जगह जमा होकर के कोई भी इबादत, या पूजा पाठ नहीं की जाएगी। अगर किसी ने की भी, तो उस पर कड़ी कार्रवाई होगी।

वहीं पर SO ने कहा के हम देखते हैं कि, बहुत से लोग चौराहों, सड़कों और गली मोहल्लों में खड़े रहते हैं, जैसे ही पुलिस की गाड़ी को आता देखते हैं तो भाग जाते हैं, इस ताल्लुक़ से थाना अध्यक्ष ने निश्चित रूप से कहा कि पुलिस से डरने की जरूरत नहीं है बल्कि आपको खुद ही अपनी सुरक्षा करनी है, इसीलिए अपनी, अपने परिवार की और अपने समाज की सुरक्षा के लिए समाजिक दूरियां बनाए रखें और स्वास्थ्य विभाग की हिदायतों का सख्ती से पालन करें, तभी हम कोरोना महामारी से जंग जीत सकते हैं।
आखिर में प्रशासनिक अधिकारियों ने शुक्रिया के साथ मीटिंग को समाप्त किया

Editor in Chief

Mohd Mohsin

Facebook of Doordarshan bharat

Recent story

Translate »